इंदौर में भूलकर भी रेड सिग्नल नहीं करे क्रॉस, अब सादी वर्दी में घूमेगी यातायात पुलिस, करेगी ये कार्रवाई

मध्य प्रदेश की आर्थिक राजधानी और मां अहिल्या की नगरी इंदौर स्वच्छता में 5 बार पंच लगा चुका है। शासन-प्रशासन और नगर निगम के लगातार प्रयास के बाद शहर को स्वच्छता में नंबर वन तो बना दिया है, लेकिन अब ट्रैफिक में नंबर वन बनाने के लिए लगातार प्रयास किए जा रहे हैं। इसी बीच अब इंदौर पुलिस प्रशासन ने ट्रैफिक को सुगम बनाने के इरादे से अब एक नया प्रयोग लेकर आई है जिसमें रेड सिग्नल में निकलने वाले वाहन चालकों को पुलिस सबक सिखाएगी। दरअसल अभी तक देखते हैं कि रेड सिग्नल में ही वाहन चालक गाड़ी निकाल कर चले जाते हैं। जिससे सामने वाले वाहन चालकों को काफी परेशानियों से गुजरना पड़ता है। अब ऐसे में इंदौर पुलिस सादी वर्दी में रेड सिगनल क्रॉस करने वालों को पकड़ेगी और चालानी कार्रवाई करेगी।

भूलकर भी नहीं करे रेड सिग्नल क्रॉस

अभी तक इंदौर में देखने में आता है यहां कई लोग यातायात नियमों का पालन नहीं करते है। इसको रोकने के लिए अब यातायात विभाग ने कमर कस ली है और एक नया प्रयोग अमल में लेकर आए है। जिसके चलते अब सिग्नल क्रॉस करने वाले लोगों को बिना वर्दी वाली पुलिस सबक सिखाएगी और नियमों का उल्लंघन करने वाले वाहन चालकों को पकड़कर चालानी कार्रवाई करेगी।

सिविल वर्दी चौराहों पर खड़े रहेगी पुलिस

मध्य प्रदेश की आर्थिक राजधानी इंदौर में पुलिस कमिश्नरी प्रणाली लागू होने के बाद यातायात व्यवस्था में भी बदलाव देखने को मिला है। पुलिस अब कड़े नियम अपना रही है और शहर को लगातार यातायात में सुगम बनाने के प्रयास कर रही है। इसका रिजल्ट भी हमें अब चौराहे पर देखने को मिल रहा है, जहां सिविल वर्दी में पुलिस के जवान तैनात किए जाएंगे। यह जवान ऐसे वाहन चालकों को पकड़ेंगे जो रेड सिग्नल होने के बाद भी वाहनों को लेकर निकल जाते हैं।

बिना नंबर, रजिस्ट्रेशन वाली गाड़ियों पर कार्रवाई

जानकारी में बताया कि जनवरी 2022 से 11 मार्च तक करीब 3 हजार 417 बिना नंबर और बिना रजिस्ट्रेशन नंबर प्लेट के वाहनों को पकड़ कर कार्रवाई की है। अभी तक शहर में कई वाहन ऐसे हैं जिनकी या तो नंबर प्लेट गलत है या फिर टूटी नंबर प्लेट के वाहन चला रहे है। ऐसे में पुलिस ने सख्त रवैया अपनाते हुए इनसे चालानी कार्रवाई की। उसके बाद इन लोगों की प्लेट नंबर प्लेट भी बदला दी है। इसके साथ ही उन्हें यातायात नियमों के पालन करने का करने के लिए जागरूक किया है।

अभी तक शहर में देखा गया है कि नंबर प्लेट भी कई तरह की है। किसी पर दादा, किसी पर दादा साहब, बॉस-7, जिद्दी, जिद्दी नंबर वन, इस तरह की नंबर प्लेट वाहनों पर लगी मिलती है। इन नंबर की प्लेटों के वाहन चालकों से जुर्माना वसूला गया है। वहीं इनके खिलाफ कार्रवाई करते हुए नंबर प्लेट बदलवाने की हिदायत दी है। बरहाल यातायात विभाग के इस नए प्रयोग का वाहन चालकों पर खासा प्रभाव पड़ेगा और यह प्रयोग शहर की यातायात व्यवस्था को सुगम बनाने में मील का पत्थर साबित होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.