भारत का इकलौता मंदिर जहां प्रेमियों को मिलती है पनाह, घरवाले या पुलिस भी नहीं कर सकती दखलअंदाज़ी

भारत धर्म प्रधान देश है और यहां पर कई मंदिर मस्जिद और गुरुद्वारे बने हुए हैं। ऐसे में लोग अपनी श्रद्धा आस्था के कारण मंदिर जाते हैं। लोग अपनी मनोकामना लेकर भगवान के पास जाते हैं और भगवान भी उनकी मनोकामना पूर्ण करते हैं, लेकिन क्या कभी आपने ऐसे मंदिर के बारे में सुना है, जहां प्रेमी जोड़ों को पनाह मिलती हो। अगर नहीं सुना तो हम आपको एक ऐसे मंदिर के बारे में बताने जा रहे हैं, जहां पर प्रेमी जोड़ों को पनाह मिलती है। इतना ही यहां पर पुलिस या फिर घर वाले भी दखलअंदाजी नहीं कर सकते। आखिर कहां पर है यह मंदिर जानते हैं।

google news

भगवान भोलेनाथ देते है प्रेमी जोड़ों को शरण

दरअसल प्रेमी जोड़ों को पनाह देने वाला मंदिर हिमाचल प्रदेश के कुल्लू घाटी के शामगढ़ गांव में स्थित है। यहां पर शंगचुल महादेव मंदिर है इसे लवर्स मंदिर के नाम से भी पहचाना जाता है। इस मंदिर में कई प्रेमी जोड़े भाग कर आते हैं और भगवान भोलेनाथ की शरण लेते हैं। हालांकि यह मंदिर खास तौर पर प्रेमी जोड़ों के लिए बनाया गया है। यहां पर भाग कर आने वाले प्रेमियों को भगवान भोलेनाथ का आशीर्वाद मिलता है। ऐसा नहीं है यहां पर भगवान भोलेनाथ सभी गांव के लोगों की मदद करते हैं।

अज्ञातवास के दौरान मंदिर में रूके थे पांडव

पौराणिक कथाओं के अनुसार यहां पर पांडव अपने अज्ञातवास के दौरान रुके थे। उनका पीछा करते हुए कौरव यहां तक पहुंच गए तब महादेव ने कौरवों को रोककर कहा कि यह मेरा क्षेत्र है। जो भी मेरी शरण में आएगा उसका कोई कुछ नहीं बिगाड़ सकता है। इसके बाद कौरव वापस लौट गए थे तब से आज तक यहां पर समाज के डर से या फिर भाग के आने वाले प्रेमी जोड़े भगवान महादेव की शरण लेते हैं और भगवान भी इनकी मदद करते हैं।

मंदिर में प्रवेश के लिए बनाए ये नियम

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि यह मंदिर विश्व विख्यात है। इस मंदिर में उम्र जाति या समाज के अन्य रीति-रिवाजों को दरकिनार कर शादी कराई जाती है। इस मामले में पुलिस को भी दखलअंदाजी नहीं करती है। मंदिर में अन्य श्रद्धालु भी आते हैं सभी के लिए कुछ नियम बनाए गए हैं यहां पर शराब और सिगरेट का सेवन नहीं किया जा सकता है। इसके अलावा चमड़े की वस्तुएं भी इस मंदिर में निषेध है। प्रेमी जोड़े मंदिर में घोड़ा लेकर नहीं आ सकते हैं। यहां पर आप तेज आवाज में बात नहीं कर सकते हैं। इसके अलावा कई तरह के से नियम है जिनका ध्यान रखना पड़ता है।

google news

प्रेमी जोड़ों के लिए है वरदस्थली

बहरहाल मंदिर काफी चर्चित है और इस मंदिर में कई तरह के मामले के निपटारे के बिना यहां से उन्हें किसी को हटाने या ले जाने की इजाजत नहीं देते हैं। इस मंदिर में प्रेमियों के लिए वरदस्थली है जो भी प्रेमी जोड़े यहां पर आते हैं भगवान भोलेनाथ उन्हें अपनी शरण में रखते हैं और उनके साथ किसी भी तरह की कोई अनहोनी नहीं होने देते हैं।