MP: 9वीं-11वीं के लिए महत्वपूर्ण जानकारी, 15-16 मार्च से शुरू होगी वार्षिक परीक्षा, इन नियमों करना होगा पालन

मध्य प्रदेश स्कूल शिक्षा विभाग ने 9वीं और 11वीं की परीक्षा की जानकारी उपलब्ध कराई। जिसमें बताया कि 9वीं की परीक्षा 16 मार्च तो वहीं 11वीं की परीक्षा 15 मार्च से शुरू होगी। जिसमें 9वीं की परीक्षा 12 अप्रैल तक चलेगी तो वहीं 11वीं की परीक्षा 13 अप्रैल को खत्म होगी। परीक्षा का समय सुबह 8:30 से दोपहर 11:30 बजे तक रखा गया है। इसको लेकर लोक शिक्षण संचालनालय ने पहले ही टाइम टेबल जारी कर दिया है।

google news

दरअसल कुछ दिनों पहले 9वीं और 11वीं की परीक्षा का टाइम टेबल लोक शिक्षण संचालनालय ने जारी कर दिया था। वहीं सोमवार को परीक्षा की जानकारी भी उपलब्ध करा दी है। परीक्षा में कई तरह के नियम रखे गए हैं जिसमें सभी विद्यालयों को राज्य मुक्त स्कूल शिक्षा परिषद द्वारा जिला शिक्षा अधिकारी के माध्यम से प्रश्न पत्र दिए जाएंगे।

शिक्षा विभाग ने इन्हें दिया ये जरूरी निर्देश

इसके संबंध में स्कूल शिक्षा विभाग ने संभागीय जिला अधिकारी जिला शिक्षा अधिकारी और विद्यालय के प्राचार्य को निर्देश जारी कर दिए हैं। इसके साथ ही स्कूलों में नकल को रोकने के लिए उड़नदस्ता की एक टीम गठित कर दी गई है जो हर विद्यालयों पर मार्केटिंग कर निगरानी रखेगी।

नकल रोकने के लिए बनाई उड़नदस्ता की टीम

वहीं परीक्षा के समय नकल को रोकने के लिए उड़नदस्ता की टीम सभी विद्यालयों में मानिटरिंग करेगी अगर इसमें कहीं कोई नकल का प्रकरण सामने आता है तो इसकी जिम्मेदारी विकास खंड अधिकारी कि रहेगी इसके साथ ही इस परीक्षा में कई तरह की जानकारी और नियम बनाए गए हैं जिसका पालन विद्यार्थियों समेत शिक्षकों को करना अनिवार्य रहेगा

google news

इन नियमों का करना होगा पालन

स्कूल शिक्षा विभाग ने विद्यार्थियों के लिए जानकारी उपलब्ध कराई है जिसमें 9वी और 11वीं की परीक्षा 16 शुरू होकर 13 अप्रैल को खत्म होगी इसमें परीक्षार्थियों की परीक्षा सुबह 8:30 बजे से शुरू होकर दोपहर 11:30 बजे तक चलेगी विद्यार्थियों को परीक्षा केंद्र पर आधे घंटे पहले पहुंचना होगा वही विद्यार्थियों को अपने साथ में प्रवेश पत्र ले जाना अनिवार्य किया है इसके साथ ही कोविड-19 प्रोटोकॉल का पालन करना होगा छात्र-छात्राओं की बैठक सोशल डिस्टेंसिंग के अनुसार रखी जाएगी जिसमें छात्र छात्राओं को मास्क पहनना अनिवार्य किया है वही सैनिटाइजर का उपयोग भी करना विद्यार्थियों के लिए अनिवार्य होगा इसके साथ ही दिव्यांग परीक्षार्थियों को 20 मिनट प्रति घंटे के हिसाब से ज्यादा समय और लेखक की सुविधाएं दी जाएगी इसी तरह कई नियमों का पालन विद्यार्थियों को करना अनिवार्य किया गया है