अब नहीं रोक पायेगी ट्रैफिक पुलिस आपकी गाड़ी, बस आपको रखना होगा इन नियमों का ध्यान

इस समय भीड़ वाले इलाकों में ट्रैफिक की समस्या काफी बनी रहती है। कई बार होता है कि पुलिस ट्रैफिक संभालने में व्यस्त नजर आती है, लेकिन ट्रैफिक लगने की कई वजह कुछ लोग चौराहे पर पुलिस खड़ी रहती है इसकी वजह से कहीं से भी गाड़ी डाल देते हैं। जिसकी वजह से दूसरे वाहनों को निकलने में परेशानी हो जाती है। ऐसे में अब इस ट्रैफिक समस्या से निजात दिलाने और किसी भी वाहन चालक को परेशान नहीं करने को लेकर एक नियम लागू किया गया है। अगर आप भी कार चलाते हैं तो सरकार के द्वारा ट्रैफिक को लेकर एक नियम लागू किया है जिसमें अब पुलिस आपको परेशान नहीं करेगी और ना ही बेवजह आपकी गाड़ी रोकेगी।

google news

अब पुलिस जवान नहीं रोकेंगे बेवजह


कई बार देखा जाता है की सड़कों पर कहीं भी पुलिस वाले चेकिंग पॉइंट लगाकर गाड़ियों को रोक लेते हैं, लेकिन इसके लिए अब सरकार की तरफ से ट्रैफिक नियम बना दिए गए हैं जिसके अनुसार अब कोई भी ट्रैफिक जवान किसी व्यक्ति को बेवजह नहीं रोक पाएगा। मुंबई कमिश्नर ऑफ पुलिस हेमंत नागराले ने जानकारी दी है। उन्होंने कहा कि ट्रैफिक पुलिस जवान गाड़ियों की चेकिंग नहीं करेंगे। खास तौर पर जहां ट्रैफिक ज्यादा होगा वहां सिर्फ मॉनिटरिंग की जाएगी। जिससे कि ट्रैफिक सामान्य रूप से संचालित हो सके। वहीं बेवजह किसी भी वाहन चालक को नहीं रोका जाएगा। अगर ट्रैफिक की रफ्तार पर कोई फर्क पड़े तो रोक सकते हैं।

ट्रैफिक जाम से मिलेगी मुक्ति


कई बार पुलिस को संदेह होने के आधार पर वाहन चालकों को रोक लिया जाता है और उनसे पूछताछ करने के साथ ही उनकी तलाशी भी ली जाती है। इसकी वजह से ट्रैफिक जाम हो जाता है। ऐसी स्थिति में अब इस तरह का फैसला लिया गया है जिससे लोगों को ट्रैफिक समस्या से निजात मिलेगी साथ ही लोगों को कई परेशानियों से छुटकारा मिल जायेगा।

उल्लघंन करने पर होगी ये कार्रवाई


दरअसल कमिश्नर ऑफ पुलिस के द्वारा एक सर्कुलर जारी किया गया है जिसमें पुलिस को गाड़ियों की जांच करने से रोकने की जानकारी दी है। क्योंकि सड़कों पर ट्रैफिक बढ़ रहा है। ऐसे में दूसरे वाहनों को आने जाने में परेशानी होती है। सिर्फ ट्रैफिक की आवाजाही पर निगरानी रखना ही प्राथमिकता रखें। वहीं इस सर्कुलर में कहा गया कि अगर मोटर चालक यातायात नियमों का पालन नहीं करते हैं तो उन्हें यातायात पुलिस मोटर अधिनियम के तहत आरोपी बना सकती है।

google news

चौकी के वरिष्ठ निरीक्षक की रहेगी जिम्मेदारी


सर्कुलर जारी किया है जिसमें पुलिस के वरिष्ठ अधिकारियों ने साफ तौर पर कहा कि किसी व्यक्ति को अगर संदेह के घेरे में पकड़ा गया तो वाहनों के बूट की जांच नहीं करनी चाहिए और ना ही उन्हें रोकना चाहिए। उन्होंने कहा कि यातायात अपराधों के खिलाफ चालान जारी रखें और यातायात उल्लंघन करने वालों को रोकेंगे। वहीं स्थानी पुलिस कर्मियों की ओर से संयुक्त नाकाबंदी के दौरान यातायात पुलिस केवल यातायात उल्लंघन के खिलाफ कार्रवाई करें। वाहनों की जांच नहीं की जाएगी। अगर इन निर्देशों का उल्लंघन किया गया तो इसकी पूरी जिम्मेदारी