MP: इन लापरवाह अधिकारियों पर गिरी गाज, सचिव-शिक्षिका समेत 8 निलंबित, 4 को थमाया नोटिस

मध्यप्रदेश में लापरवाह अधिकारियों पर शिवराज सरकार लगातार कार्रवाई कर रही है। एक बार फिर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के आदेश के बाद विदिशा, सागर और सिवनी जिलों में बड़ी कार्रवाई को अंजाम दिया गया है। दरअसल विदिशा में प्रधानमंत्री आवास योजना में लापरवाही बरतने पर पंचायत सीईओ डॉ. योगेश भट्ट ने 7 पंचायत सचिवों को निलंबित कर दिया। वहीं सागर जिले में एक सहायक शिक्षिका को निलंबित करते हुए सिवनी में चार अधिकारियों को नोटिस थमा कर जल्दी जवाब देने की बात कही गई है।

मध्यप्रदेश के 3 ​जिलों में एक साथ कार्रवाई

दरअसल इस समय मध्यप्रदेश में लापरवाह अधिकारियों और कर्मचारियों के खिलाफ मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने मोर्चा खोल रखा है। बीते कुछ दिनों पहले भी मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भरे मंच से भ्रष्टाचार अधिकारियों को निलंबित किया था। वहीं रविवार को फिर मध्य प्रदेश के 3 जिलों में कार्यवाही को अंजाम दिया गया है। जिसमें विदिशा,सागर और सिवनी जिले शामिल है।

​इस जिले में 7 पंचायत सचिवों को किया निलंबित

विदिशा जिले में 7 पंचायत सचिवों द्वारा प्रधानमंत्री आवास योजना में लापरवाही बरती गई थी जिसके चलते जिला पंचायत सीईओ डॉ. योगेश योगेश भट्ट ने कार्रवाई करते हुए निलंबित कर दिया है। वहीं 15 रोजगार सहायकों के खिलाफ जांच के आदेश दिए गए हैं। बताया जा रहा है कि इन लापरवाह पंचायत सचिवों ने 2016 से अब तक 14000 से ज्यादा आवासों को पूरा नहीं किया है। इतना ही नहीं इन्होंने स्वच्छ भारत मिशन के ब्लॉक समन्वयक के खिलाफ एडब्ल्यू में f.i.r. तक कराने की चेतावनी दी इसके साथ ही सीईओ ने 20-20 पंचायतों के सचिव और रोजगार सहायकों को फटकार लगाते हुए उनके खिलाफ जांच के आदेश दिए गए हैं।

वहीं सागर जिले में जिला शिक्षा अधिकारी अजय सिंह ठाकुर ने शासकीय प्राथमिक कन्या शाला की एक सहायक शिक्षिका चंद्रवती चौरसिया पर कार्रवाई की। इन्होंने अपने कार्य में उदासीनता और लापरवाही बरती है। जिसकी वजह से इन्हें तत्काल प्रभाव से निलंबित किया गया है। सहायक शिक्षिका चंद्रवती चौरसिया शासकीय प्राथमिक कन्या शाला बड़ा बाजार में पदस्थ थी जिन्हें निलंबन की अवधि तक गोपालगंज भेजा गया है।

वहीं तीसरी कार्रवाई सिवनी जिले में की गई है जहां 10वीं परीक्षा में चार अधिकारियों को नोटिस दिया गया है। बताया जा रहा है शनिवार को दसवीं के सामाजिक विज्ञान के प्रश्न पत्र लेने के लिए जिले के सिहोरा के केंद्र अध्यक्ष एवं सहायक केंद्र अध्यक्ष लखनादौन थाना पहुंचे थे, जहां उन्होंने स्कूल की पेटी खोलने की वजाए उत्कृष्ट विद्यालय लखनादौन की पेटी से पेपर पैकेट निकाल लिए। जिसके बाद वरिष्ठ अधिकारी को सूचना दे दी गई और उन्हें पेपर कम प्राप्त हुए है। 2 स्कूलों में प्रश्न पत्र लेने के दौरान हुई इस गलतफहमी के चलते परीक्षार्थियों को प्रश्न पत्र उत्तर कराने में देरी होने पर यह कार्रवाई की गई है।